काली मिर्च को आप अपने भोजन में शामिल करते हो तो यह मेटाबॉलिक रेट को बढ़ा कर खाने को पाचन करने में मदद करेगी।

इसे आप सब्जी, दाल, चावल, जूस किसी में भी ले सकते हैं। लेकिन इसके गुणों  का पूरा फायदा उठाने के लिए कुकिंग के बाद ही इसे खाने में शामिल करें।

भूख ना लगने की स्थिति में काली मिर्च का सेवन भी बहुत फायदेमंद है। इसमें काफी ऐसी प्रॉपर्टीज होती है, जो गैस को नहीं बनने देती।

पेट दर्द हो या पेट में गैस हो तो तुरंत 8 से 10 दाने काली मिर्च के पीस कर उसे गर्म नींबू पानी में डालकर पिए, आपको तुरंत रिलीफ मिलेगा।

छोटे छोटे दाने हमें कैंसर जैसी बीमारियों से बचाने में पूरी तरह सक्षम है। इस में पाए जाने वाला पेपर रिंग कंटेंट कैंसर सेल्स की ग्रोथ को रोकता है।

यह एक्स्ट्रा कैलेरी को बर्न कर हमें एनर्जी देने के साथ-साथ हमारी फैट को  कम करती है। और वजन कम करने में मदद करती है। इसीलिए इसे फैट बर्नर भी कहा  जाता है।

यह भोजन से मिलने वाले न्यूट्रींस को शरीर में पूरी तरह पहुंचाने में मदद  करती है। और इसका बाहर का छिलका चर्बी को तोड़ने का काम करता है।

काली मिर्च में विटामिन-C, विटामिन-K, मैग्नीशियम, पोटेशियम और आईरन यह भी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं।

काली मिर्च हमारे इम्यून सिस्टम को भी स्ट्रॉन्ग करता है। काली मिर्च और शहद की एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज हमें इंफेक्शन से होने वाली बीमारियों से लड़ने में मदद करती है।

काली मिर्च के फायदे मे अगर इसको रेग्युलरइस्तेमाल किया जाए तो यह दिमाग की प्रॉपर फंक्शनिंग में मदद करती है। और डिप्रेशन नहीं होने देती।

एसे ही माजेदार फूड रेसिपि ओर स्वास्थ्य सुजाव के बारे मे जानने के लिए नीचे दिये गए लिंक पे क्लिक करे।